loading...

View Jokes by » Sex Life

Collection of all latest news about sex life, how to increase sex time, sex performance, sex education, better sex life

Oral Sex Tips In Hindi

Oral Sex Tips In Hindi – ऑरल सेक्स को भारत में घृणित और निंदनीय समझा जाता है, लेकिन इसके बावजूद लोग इसे कभी ना कभी आजमाते जरूर हैं। इसके बारे में यह भी कहा जाता है कि इससे कैंसर भी हो सकता है। तो आईये जानते है कुछ ऑरल सेक्स के बारे में, लोग इसके बारे में क्या कहते हिया और सुर्वे क्या कहते है है ऑरल सेक्स के बारे में|

1. दुनियाभर के सेक्स संबंधी आंकड़े दर्शाते हैं कि कहीं इसका प्रचलन कम है तो कहीं बहुत अधिक है। जहां तक अमेरिका की बात है तो ज्यादातर अमेरिकी अपनी किशोरावस्था में या किशोरावस्था के प्रारंभिक वर्षों में इसका अनुभव ले चुके होते हैं।

2. वर्ष 2006 और 2008 के बीच कराए गए सीडीसी सर्वे के मुताबिक कभी आधे किशोरों और करीब 90 फीसदी युवाओं ने अपने विषमलिंगी साथी के साथ ऑरल सेक्स किया। इन युवाओं की आयु 25 वर्ष से लेकर 44 वर्ष तक थी।

3. सेक्स विशेषज्ञों के अनुसार यह सेक्स किए बिना सेक्सी होने का अनुभव है। एक विशेषज्ञा लिंडसे पाल्मर का कहना है कि आप अपनी सेक्स लाइफ में सुधार लाने के लिए भी एक ब्रेक के तौर पर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।
उनका कहना है कि ऑरल सेक्स भी वयस्क रिश्तों का एक सुखद और स्वस्थ भाग हो सकता है लेकिन कुछ ऐसी बातें हैं जिनके बारे में अधिक लोग नहीं जानते। इसके बारे में चार तथ्य हैं जो आपको चकित कर सकते हैं।

4. ऑरल सेक्स का गले के कैंसर से संबंध : आमतौर पर यह कहा और माना जाता है कि ऑरल सेक्स करने से गले का कैंसर हो जाता है। अमेरिकन कैंसर सोसायटी के चीफ मेडिकल ऑफीसर ओटिस ब्रॉली, एमडी का कहना है कि हां, यह संभव है कि आपको ओरल सेक्स करने से गले का कैंसर हो सकता है।
पर यह बात भी सही है कि ओरल सेक्स से कैंसर नहीं भी होता है। दरअसल कैंसर का कारण ह्यूमन पापीलोमावाइरस (एचपीवी) होता है जो सेक्स के दौरान एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में पहुंच जाता है और इस सेक्स में ऑरल सेक्स भी शामिल है।

5. शोधकर्ताओं ने यह पाया है कि कुछ तरह का कैंसर जो गले के बीच के भाग (ओरोफैरिंक्स) और टॉंसिल्स में एचपीवी के एक निश्चित प्रकार के वाइरस से होता है। इसके साथ यह भी जान लें कि एचपीवी बहुत ही सामान्य होता है और यह हमेशा ही कैंसर पैदा नहीं करता है।

इसके बारे में एक प्रमुख बात यह भी है कि एचपीवी के संक्रमण को मनुष्य के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता ही समाप्त कर देती है और शरीर इसके संक्रमण से वर्षों तक लड़ सकता है, लेकिन यह बात भी तय है कि अगर आप ओरल सेक्स के दौरान एचपीवी के सम्पर्क में नहीं आते हैं और इससे बचाव का उपाय करते हैं तो कैंसर होने का कोई खतरा नहीं होता है।

ब्रॉली का कहना है कि अस्सी के दशक के अंतिम वर्षों और नब्बे के दशक की शुरुआत में एचपीवी और ओरोफैरिंगियल कैंसर के बीच संबंध का इशारा मिला था। शोधकर्ताओं ने इस बात पर गौर किया कि इस तरह के कैंसर की बढ़ोतरी ऐसे लोगों में देखी गई थी जो इस तरह की बीमारी के प्रति बहुत प्रोन नहीं थे। इस बीमारी ने ऐसे लोगों को करीब 40 वर्ष की उम्र के करीब घेरा था हालांकि ये ऐसे लोग थे, जिन्होंने कभी धूम्रपान नहीं किया था और ना ही कभी शराब पी थी।

इससे पहले के दशकों में यह देखा गया था कि इस तरह के कैंसर आमतौर पर उन्हीं बूढ़े लोगों में पाए जाते थे जो धूम्रपान करते थे या बहुत शराब पीते थे। वर्ष 2000 की शुरुआत में वैज्ञानिकों ने एचपीवी 16 का अत्याधुनिक डीएनए परीक्षण किया और पाया इनमें से कई नए तरह के कैंसर थे। ब्रॉली का मानना था कि बीमारी से यौन संबंध जुड़े हो सकते हैं।

वर्ष 2007 में द न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में एक अध्ययन प्रकाशित किया गया जिसमें कहा गया था कि ऐसे लोगों में ओरोफैरिंगियल कैंसर का ज्यादा खतरा था जिनके ऑरल सेक्स के दौरान कम से कम छह अलग-अलग साथी थे। एचपीवी टाइप 16 के डीएनए सिग्नेचर (विशेषता) अक्सर ऐसे लोगों में पाया गया, जिनके बहुत सारे सेक्स पार्टनर्स थे।
लेकिन ब्रॉली का कहना है कि अभी भी यह बात स्पष्ट नहीं है कि कितने लोगों को ऑरल सेक्स से एचपीवी थ्रोट इन्फेक्शन्स होता है या फिर इनमें से कितने लोगों को ओरोफैरिंगियल कैंसर होता है। महिला और पुरुष दोनों को ही गले में एचपीवी इन्फेक्शन (संक्रमण) हो सकता है, लेकिन जिन लोगों को यह समस्या सबसे कम होने की संभावना थी वे 40-50 वर्ष की उम्र के विष‍मलिंगी पुरुष थे।
डॉक्टर्स यह बात अच्‍छी तरह जानते हैं कि एचपीवी से होने वाला ओरोफैरिंगियल कैंसर का इलाज बहुत आसान होता है अगर इससे पीड़ित लोग धूम्रपान और शराब पीने से दूर रहें। ब्रॉली कहते हैं कि इस मामले में सर्वश्रेष्ठ रोकथाम का उपाय भी स्पष्ट नहीं है लेकिन सार्वजनिक जागरूकता के तौर पर लोगों को निश्चित तौर पर इस बात की जानकारी होनी चाहिए।

डॉ. ब्रॉली कहते हैं कि ऐसी स्थिति में एचपीवी वैक्सीन का उपयोग समस्या का एक हल हो सकता है, लेकिन वे इस बात को लेकर सुनिश्चित नहीं हैं कि हमने इतना अध्ययन कर लिया है कि हम यह मान लें कि यही एक कारण है जिसके चलते लड़कों को एचपीवी के वैक्सीन लगा देने चाहिए।

अमेरिका में एफडीए की ओर से एचपीवी वैक्सीन गार्डासिल 9 वर्ष से लेकर 26 वर्ष तक के युवाओं के लिए मिलती है लेकिन इससे भी लड़कों और युवाओं के जननांगों में होने वाले मस्सों का इलाज होता है और इससे उनके साथियों से होने वाले एचपीवी संक्रमण को नहीं रोका जा सकता है, पर विशेषज्ञों का कहना है कि वास्तव में 9 वर्ष तक के लड़कों को गार्डासिल की जरूरत नहीं होती है।

कुछ के संबंध सुधरे तो कुछ को तनाव : फेयर ओक्स, कैलिफोर्निया की सेक्स थेरेपिस्ट लुआन कोल वेस्टन का कहना है कि वयस्कों में जहां ओरल सेक्स कुछ जोड़ों को तनाव देता है तो कुछ के लिए अंगरंगता बढ़ाता है। वे कहती हैं कि ओरल सेक्स को लेकर तनाव का कारण है कि एक साथी को स्वास्थ्य विज्ञान (हाइजीन) से जुड़ी कुछ चिंताएं होती हैं। वेस्टन कहती हैं कि एक व्यक्ति इसे नहीं करना चाहेगा क्योंकि वह दूसरे साथी की प्रतिक्रिया को लेकर चिंतित होता है।
इसमें कुछ लोगों को अपनी परफॉर्मेंस (प्रदर्शन) को लेकर भी चिंता हो सकती है। उन्हें चिंता हो सकती है कि वे इससे अपने साथी को खुश कर पाएंगे या नहीं और क्या दूसरा साथी इसे करने में उसके जैसी ही रुचि दिखा रहा है या नहीं?

वेस्टन कहती हैं कि कुछ लोग ऐसे नहीं होते हैं जो इसे सामान्य तौर पर ले पाते हों। कुछ लोग इसे नहीं करना चाहते क्योंकि वे इस काम में खुद को एक हद तक दूसरे के अधीन महसूस करते हैं। कुछ लोगों को लगता है कि एक व्यक्ति के शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग उनके दांतों के नीचे होता है और उन्हें लगता है कि ऐसा करके वे दूसरे के सामने झुक रहे हैं।

वेस्टन का कहना है कि जबकि दूसरे लोगों के लिए ऑरल सेक्स का अनुभव रिश्ते को मजबूत करने वाला और बहुत ही अंतरंग संबंध होता है जिसे दोनों लोग साझा करते हैं। इसके दौरान अपने साथी को भी देखा जा सकता है और उन्हें लगता है कि वे वास्तव में बहुत ही निजी दौर में हैं।

असुरक्षित ऑरल सेक्स सामान्य लेकिन जोखिमभरा : बहुत सारी सेक्स से संक्रमित होने वाली बीमारियां (एसटीडीज) जिनमें एचआईवी, दाद-खाज, सिफलिस, गोनरिया और वाइरल हेपाटाइटिस, ऑरल सेक्स के जरिए एक-दूसरे में फैलती हैं। पोर्टलैंड, ओरेगान में वेस्टोवर हाइट्‍स क्लीनिक की मालकिन टेरी वारेन का कहना है, ऑरल सेक्स सुरक्षित नहीं होता है। यह दूसरों की तुलना में अधिक सुरक्षित हो सकता है लेकिन यह सुरक्षित नहीं है।

पर इस तरह का खतरा बहुत सारी बातों पर निर्भर करता है। जैसे आपके कितने सेक्सुअल पार्टनर्स हैं, आपका लिंग क्या है, आप ऑरल सेक्स में भी कौनसी क्रिया ज्यादा करते हैं। इस दौरान कंडोम का इस्तेमाल या सुरक्षा के अन्य उपाय किए जा सकते हैं।

वारेन का कहना है कि ज्यादातर लोग ऑरल सेक्स के दौरान सुरक्षा का कोई उपाय नहीं करते है, पर अपने को सुरक्षित सामान्य समझदारी की बात है और बहुत सारे सेक्सुअल सक्रिय किशोरों और वयस्कों के मध्य किए जाने वाले सर्वेक्षणों में बार-बार यही बात कही जाती है।
यह स्थिति इस कारण से है क्योंकि बहुत सारे लोग इस बात को नहीं जानते हैं कि सेक्स जनित बीमारियां मुंह से भी फैल सकती हैं। अगर वे जानते हैं तो इसे स्वास्थ्य के लिए गंभीर खतरा नहीं मानते हैं।

वारेन की सलाह कि ऑरल सेक्स को बिना सुरक्षा के नहीं करें। वे कहती हैं कि किसी महिला के लिए पुरुष साथी के साथ बिना कंडोम के ऑरल सेक्स करना अधिक जोखिमभरा है। वे कहती हैं कि जो लोग एक कंडोम के बिना विभिन्न पुरुष साथियों के साथ ऑरल सेक्स करते हैं, वे भी कम जोखिम मोल नहीं ले रहे हैं।
वे कहती हैं कि अगर एक पुरुष एक महिला के साथ ऑरल सेक्स कर रहा है तो मैं इसे कम जोखिम वाला अनुभव मानती हूं, लेकिन अगर एक महिला के नियमित साथी को मुंह में कोई संक्रामक बीमारी है तो यह पूरी तरह से अलग बात हो सकती है।

किशोरों के मध्य आम है ऑरल सेक्स : अमेरिका में बहुत से किशोर योनि सहवास से पहले ऑरल सेक्स का अनुभव करते हैं और वे इसे जोखिमभरा भी नहीं मानते हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, सान फ्रांसिस्को की पीडियाट्रिक्स की एक प्रोफेसर बोनी हापर्न-फेल्शर कहती हैं कि किशोर इस बात को कोई बड़ी बात नहीं मानते हैं।
हापर्न-फेल्शर ने बहुत सारे सर्वेक्षण किए हैं जिनसे यह बात उजागर हुई है ज्यादातर किशोरों का यह मानना था कि ऑरल सेक्स करने से उन्हें सामाजिक, भावनात्मक या स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होने का खतरा नहीं है।

उनके अन्य सर्वेक्षणों से यह बात सामने आई कि जिन किशोरों ने केवल ऑरल सेक्स किया था, वे भी दूसरे किशोरों की तुलना में जोखिम उठा रहे थे, जिन्होंने वैजिनल सेक्स अथवा वैजिनल और ऑरल सेक्स किया था।

लेकिन सेक्सुअली सक्रिय किशोरों के तीनों वर्गों के मध्य सेक्स से होने वाली संक्रामक बीमारियां हुईं। जिन किशोरों ने कहा कि वे केवल ऑरल सेक्स करते हैं, उनमें से दो फीसदी से कम किशोर प्रभावित हुए। जो केवल वैजिनल सेक्स करते थे उनमें से करीब 5 फीसदी प्रभावित हुए लेकिन जो वैजिनल और ऑरल दोनों ही तरीकों से सेक्स करते थे, ऐसे प्रभावित होने वाले लोगों की संख्‍या 13 फीसदी थी।

एक दूसरे सर्वेक्षण में नौवीं कक्षा के 425 बच्चों से खुले सवाल पूछे गए। ये बच्चे एक ही एज ग्रुप के थे और उनसे पूछा गया कि उनकी आयु वर्ग के लोगों को ऑरल सेक्स क्यों करना चाहिए? यह विचार कि वैजिनल सेक्स की तुलना में यह कम जोखिमपूर्ण है, उनकी वरीयता में पांचवें नंबर पर था। उनके पहले चार कारण थे- पहला, आनंद लेना, 2 रिश्ता सुधारना, 3 लोकप्रियता हासिल करना और 4 उत्सुकता थी।

लड़के और लड़कियों के जवाबों में अंतर था जहां लड़कों को मजे लेना पहला कारण था वहीं लड़कियों का कहना था कि उनका मुख्य उद्देश्य संबंधों को सुधारना था।
सेक्सोलॉजिस्ट डॉ. महेश नवाल का मानना है कि यदि दोनों पार्टनर्स को कोई संक्रामक बीमारी नहीं हो और उनके गुप्तांग पूरी स्वच्छ हों तो ऑरल सेक्स से किसी भी तरह का खतरा नहीं होता। वे इस बात पर भी जोर देते हैं कि पार्टनर की रुचि-अरुचि का भी खयाल रखा जाना चाहिए अन्यथा इससे आपके वैवाहिक अथवा प्रेम संबंध प्रभावित हो सकता है या टूट भी सकता है।

Facts about sex life in hindi – सेक्स लाइफ से जुड़ी रोचक बातें

सेक्स लाइफ से जुड़ी रोचक बातें
1. पत्नी के साथ घरेलू कामकाज में हाथ बँटाने वाले मर्दों की सेक्स लाइफ ज्यादा अच्छी होती है।
2. काफी लोग मानते हैं कि शादी के बाद हनीमून का समय सबसे अच्छा समय होता है लेकिन ऐसा नहीं है रिसर्च के अनुसार शादी के एक साल बाद पति पत्नी ज्यादा खुश रहते हैं।
3. शादी के बाद ज्यादातर मर्दों की सेहत अच्छी हो जाती है।
4. उम्र बढ़ने के साथ औरतों की कामुकता भी बढ़ती जाती है।
5. रिलेशन के तीसरे से पांचवे महीने में ब्रेकअप के चांस सबसे ज्यादा होते हैं।
6. हर तीन में से एक प्रेमी जोड़ा अपने पार्टनर के साथ जबरदस्ती सम्बन्ध बनाता है।
7. 40% मर्द पहली बार महिला मित्र से मिलते समय बहुत घबराये हुए रहते हैं।
8. लड़की अगर आपसे प्रभावित है तो वह आपके भद्दे मजाक पर भी हँसेगी।
9. केवल 29% कपल ही फर्स्ट डेट पर शारीरिक सम्बन्ध बनाते हैं।
10. शारीरिक सम्बन्ध बनाने के दौरान नारियल का तेल लगाने से चरमोत्कर्ष जल्दी होता है।
11. सुबह जिम करने के बाद का समय सेक्स के लिए सबसे अच्छा होता है।
12. औरतों का सबसे उत्तेजित भाग निप्पल होता है जिसे छूने से पूरे शरीर में उत्तेजना फ़ैल जाती है।
13. पांच में एक व्यक्ति सेक्स के समय भी मोबाइल चलाते हैं।
14. पेट पे बल सोने वाले लोगों को ज्यादा कामुक सपने आते हैं।
15. शारीरिक सम्बन्ध बनाने के बाद भी आपस में सेक्सी बात करने से मर्द और स्त्री ज्यादा संतुष्ट रहते हैं।

Gaand marne ka sahi trika tips help in hindi sms message news

गांड मारने मैं पहली सबसे बड़ी चुनौती होती है गांड के छेद की टाईट रिंग को खोलना एक बार एक बार गांड के छेद का होल फैलकर खुल जाये तो आसानी से लंड प्रिबिष्ट कराया जा सकता है और गांड का छेद अपने आप खोलने का सबसे सरल तरीका है की गांड के छेद को जीभ से चाटो जब चाटने से लड़की की गांड मैं गुदगुदी होगी तो पॉटी का छेद भी अपने आप खुलना शुरू होगा और जब छेद खुल जायेगा तो छेद के अन्दर की गहराई और लाल लाल होल दिखाई देगा फिर आप गांड को आसानी से मार सकते हो और ज्यादा मजे के लिए सरसु का तेल जरुर काम में ले गांड मरने का आनंद बद जाएगा सच में क्युकी तेल काम में लेने से जब आप अपने लुंड को आगे पीछे करोगे तो पच पच की आवाज आएगी वो आप को और भी ज्यादा मजा देगी…
अछा लगे तो शेयर करना न भूले..

Fact about angry girls in hindi sms message news

ज्यादा जिद्दी और गुस्सैल लड़की चुद्वाते समय भी aggressive ( आक्रामक) रहती है और उस टाइम वो लड़के पर हावी होने की कोशिश करती है क्यूंकि ऐसी लड़कियों को किसी भी हालात मैं किसी से भी हार मानना पसंद नहीं होती इसलिए चुद्वाते समय भी खुलकर बेशर्म रंडी की तरह पेश आती है और लड़के को चुदाई के मामले मैं हराने मैं उनको अपनी जीत लगती है 

Hindi Tips for good sex on bed adult non veg sexy message sms

सेक्स के समय पॉटी वाले छेद पर भी ऊँगली घुमाना चाहिए इससे लड़की को गुदगुदी होती है और उसको मजा आता है

उसकी गांड के छेद पर कभी शहद कभी रबड़ी कभी मलाई कभी आइसक्रीम लगाकर चाटना चाहिए
ये सब चूत और दूध पर लगाकर चाट कर साफ करना चाहिए इस से लड़की को सेक्स करने में बहुत मजा आता है.

Adult non veg version of dishoom song by a girl in hindi

जो मुझे देखे ना उसको दिशूम,
जो मुझे आँख न मारे उसको दिशूम,
जो मुझे छेड़े ना उसको दिशूम,
जो मेरी पप्पी न ले उसको दिशूम,
जो मुझे किस न करे उसको दिशूम,
जो मेरे मेरे मुम्मे न चुसे उसको दिशूम,
जो मुझे नंगा न करे उसको दिशूम,
जो मेरी चूत न चाटे उसको दिशूम,
जो मेरी चूत में ऊँगली न करे उसको दिशूम,
जो मुझे चोद चोद के शांत न करे उसको दिशूम,
बंदी में रब दि डिट्टो तेरे वर्गा मैं,
एक वारी जो कोई चोद दे मुझे,
फिर कादी रुका में.

husband wife sexy adult joke

Executive comes late home aftr having dog style sex wth his secretry at the office.
Wife:Were hav u been? He shouts: sara din office mein kutte ki tara laga raha.

akbar birbal tansen sexy adult non veg story in hindi

To bhaiyon yeh baat hai Akbar ke zamane ki….

Usne 9 chutiye lundoore paal rakhe the..

Popularly known as his 9 ratans…!!!

Birbal aur Tansen me bada Kaampeeteesan raha karta
tha…

EK din gusse me aake Tansen kehta hai ki ” Ab faisla
ho hi jaye ki kaun zyada bada betichod hai???? main shart marta hoon ki main Jodha bai ke mammey choos sakta hoon”

Birbal ki has has ke gaand me dard ho gaya… Kehta hai ki “Agar toone aisa kar diya to agle din bhari sabha me mai nangaa aaunga”…

Bas fir hona kya tha lag gayi shart…
Tansen gaya bazaar, sapere ke paas. kehta hai ki “Bhai, mujhe ek saanp chahiye, untrained aur bina zehar ke hona chahiye”.
Saanp khareed ke Tansen usko ghar pe training dena shuru karta hai. ek aadmi ka putla banake saanp

ko kehta hai ” BETA SAPPU uske tang pe kaat”. to sappu putle ke taang pe jake das leta hai…Aise hi training karte karte

sappu Tansen ka ishara dekh kar taang, haath gala ityadi ko dasna seekh jaata hai..

Jahan bhi Tansen ishara karta, Sappu waha das leta…Training karke sappu ab taiyar ho gaya Big Day ke liye…

Ab baat aisi thi ki Akbar aur Jodha bai har subah apne bageeche me sair ke liye nikalte the. agle din subah Tansen bhi apne sappu
ke saath bageeche me ja pahuncha…aur jhadiyon me chhip gaya…Jahaan panah aur begum ko aata dekh tansen ne sappu ko phat se nikalke zameen pe chhod diya aur ishara Jodha bai ke mammon ki taraf karke bola..

“BETA SAPPU dikha apna kamaal ja das le rani ke Mammon
ko….”Sappu phat se gaya, begum ki taang par chadh ke,mansal Jangho se gujerke chut ko par kar ke seedha ja pahunchta hai mammon ke beech vali khai me vaha se plan ke mutabik seedha left turn le ke chadh jata hai Top pe aur ek second mein saali ko das leta hai nipple pe…

Jodha chikhne lage” Are Mere randibaaj Akbar kuch ker
na”

Akbar to paagal ho gaya…”Arre bachao koi bachao meri begum ko saap ne das liya koi Bachoooo”

Tabhi Tansen nikla jhadiyon se, bhaag ke gaya aur bola “Jahan panah ek Upay hai mere paas rani sahebaan ko bachaneka.

Main agar zehar choos kar bahar nikal doon to aap gussa hokar meri gand to nahi katwa denge na?? Akbar bola Madar chod jo bhi
karna ho jaldi kar but

meri begum ko bacha le…phir kya tha Tansen ne phat se Jodha bai ko pakda, uske kapde Ranjit ki tarah fade aur mammey bahar nikal
kar chhosne

laga….aur poore ke poore choos dale…( Aur idher -udher haath bhi maar liye harami ne)

Birbal ne ye baat suni to uski gaand se maano Rocket guzar gaya…. man hi man sochne laga Bhenchod kal to lut gayee izzat, bhare darbaar me nang dhadang jaan padega….gaand lag gayi…Usne khoob socha, baal khujlaye (upar ke bhi neeche ke bhi) lekin no idea…Gaand jab khujayee to idea Lund ki tarah uchhal kar bahar aaya…

Agle din darbaar laga, Akbar ne sabke samne Tansen ki tareef ki aur kaha agar tansen me zehar choosne ki shakti nahi hoti to Jahan panah aaj randwe hote….aur akele apne aap hilaa rahe hote….

Tansen on other hand cud not wait for Birbal to make an appearance…khushi ke maare pagal ho raha tha ye soch kar ki jab Birbal bhare darbaar me nanga hokar aayega to Akbar ki gaand sharm se paani paani ho jayegi….YESSS….

wo birbal ke gaand pe itne hunter maarenge ki Birbal ki 7 pushte muh se hagegi….tabhi darbaar me hulchul machi…sabne dekha ki Birbal nanga hokar, apna lauda haath me pakde, dudta hua aa raha
hai… Bas phir hona kya tha Akbar ki gaand gusse se LAAL ho
gayi…bola “Birbal ye kya gustakhi hai???” teri himmat kaise hui aise nange aane ki??

Birbal bola “Haye Jahan panah mai mar gaya mujhe saap ne kaat liya …mere laude pe..”

Akbar bola “Tansen ja choos Birbal ka lund “

This Is Called True Sex – sexy joke in english

Perfect Lines By William Sexfear:
“Any Man Can Fuck Hundred Girls,
But Only A Real Man Can Fuck One Girl In A Hundred Ways” Thats True Sex.

सेक्स-से-जुड़ी-9-काम-की-बातें

यह सवाल हमेशा ही मर्द और औरत दोनों के ही मन में चलता रहता है कि कैसे अपने पार्टनर को यौन संतुष्टि प्रदान करें या कैसे उसके साथ अंतरंगता बनाएं या फिर कैसे उसे अपनी ओर आकर्षित करें। साथ ही सेक्स के दौरान किन-किन बातों का खयाल हमें रखना चाहिए और हां, यह भी ध्यान रखना चाहिए कि सेक्स ही एकमात्र उद्देश्य नहीं होना चाहिए। आइए देखते हैं सेक्स से जुड़ी कुछ काम की बातें, जो निश्चित ही सेक्स लाइफ में उपयोगी साबित हो सकती हैं….

1. मनोवैज्ञानिक तौर पर फ्लर्ट करें। पहल करें, अपने पार्टनर से खुलें और बाद में पहले की स्थिति में आ जाएं। फिर थोड़ा-सा करीब आएं। यह बात महिला और पुरुष दोनों को ही उत्तेजित करती है और वे सेक्स के लिए आगे बढ़ते हैं।

2. अपने पार्टनर को मनोवैज्ञानिक तौर पर चुनौती दें। उसे अपनी बातों और व्यवहार से उत्तेजित करें। उसे गुस्सा दिलाएं, उसका तनाव बढ़ाएं। यदि झगड़े की नौबत आती है तो भी चिंता न करें। यहां झगड़े से मतलब ईगो से नहीं है कि दोनों मुंह फेरकर सो जाएं।
यह ध्यान रखें कि इसकी परिणति सेक्स के रूप में होनी चाहिए। …अंत में यह होगा कि सेक्स के बाद न सिर्फ आपका तनाव दूर हो जाएगा बल्कि आप एक-दूसरे के और करीब आ जाएंगे।

3. जब आप अपने पार्टनर से अंतरंगता चाहते हैं तो अपने साथी को जैसा है उसी रूप में स्वीकार करें। जब अब सुखद सेक्स की उम्मीद करते हैं तो आपको आपके सेक्स पार्टनर की खूबियों और खामियों का विश्लेषण नहीं करना चाहिए। आपका उद्देश्य सिर्फ सेक्स और शारीरिक सुख होना चाहिए।

4. आप अपने सेक्स पार्टनर के सामने अपनी भावनाएं खुलकर अभिव्यक्त करें। दूसरे व्यक्ति की तुलना में उसके साथ ज्यादा से बात करें। ऐसा करके आप अपने सेक्सुअल पार्टनर को अपने बारे में ज्यादा बताते हैं। …और वह निश्चित ही आपकी ओर आ‍कर्षित होगा और आपको सेक्स करने में आसानी होगी।

5. अपनी बातों को बढ़ा-चढ़ाकर बताएं अर्थात माहौल में हास्य पैदा करें। हंसी-खुशी और मजाक से आप दोनों के बीच सेक्सुअल इंटरकोर्स होना संभव है, लेकिन अगर आप गंभीर हों और वातावरण बोझिल बना लेते हों संभव है आपका पार्टनर आपके साथ सेक्स के लिए तैयार ही न हो।

6. एक ही समय पर आप सा‍हसिक और नम्र बने रहें अर्थात सेक्स के लिए पहल तो करें, लेकिन आपके पार्टनर की भावनाओं का भी खयाल जरूर रखें। अगर आपका साथी उस समय सेक्सुअल इंटरकोर्स नहीं चाहता है तो उसके साथ अंतरंगता बनाने का जो भी उपाय हो, आजमाएं। न तो सेक्सुअल इंटरकोर्स के लिए कोई चालाकी दिखाएं और न ही उसे मजबूर करें। ज्यादा अच्छा है उस समय दोनों के बीच आदर्श तालमेल बनाने की कोशिश करें।

7. सेक्स को पहली वरीयता न दें । अपने साथी के साथ अंतरंगता बढ़ाएं उसे भावनात्मक रूप से सहारा दें। यह बात हमेशा याद रखें कि शारीरिक तौर पर सेक्सुअल इंटरकोर्स की अक्सर ही जरूरत नहीं होती है, बल्कि असली जरूरत मनोवैज्ञानिक अंतरंगता की होती है।

8. सेक्सुअल इंटरकोर्स को मनोवैज्ञानिक या रिश्तों की अंतरंगता का पर्याय नहीं समझें। केवल सेक्स करने से आप किसी से भावनात्मक तौर पर नहीं जुड़ जाते हैं। सेक्स केवल सेक्स है और यह शारीरिक इंटरकोर्स को बढ़ाने की आवश्यकता भर है। वास्तव में सेक्सुअल इंटरकोर्स बातचीत के जरिए तुरंत ही अंतरंगता पैदा करने का परिणाम और एक जैसे भावनात्मक अनुभव वह आधार है जो कि आप दोनों के शरीर को जोड़ते हैं।

9. दूसरे व्यक्ति को सेक्सुअल इंटरकोर्स या संबंध के लिए विवश न करें। इस तरह का खेल आपके एक साथी को संतुष्ट नहीं करता है। भावनात्मक तौर पर अंतरंगता को हासिल करें और तब शारीरिक सेक्स आधिकाधिक संभव हो जाएगा।

© All right reserved EHindiJokes.com